Keyboard in Hindi - हिंदी कीबोर्ड | Types of Hindi Keyboard

दोस्तो क्या आप Keyboard in Hindi के बारे में Information ढूंड रहे है अगर हां तो आप एकदम सही Article पे आये है क्योंकि इस Article में आपको Hindi Keyboard के बारे में Details में जानकारी देंगे कि Keyboard in Hindi क्या है और Hindi Keyboard को कैसे Use करते हैं तो

Computer Keyboard in Hindi - कीबोर्ड क्या है?


Hello Dosto,  मेरी वेबसाइट keyboardinhindi.co मैं आपका स्वागत है और स्वागत है आपका इस Online युग में जिसमें Computer आज के युग का एक महत्वपूर्ण अंग है जिसके बिना आपके कई Online कार्य में गतिरोध एवं कई समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। आज मैं आपको Computer जो आज के समय महत्वपूर्ण है। पर Computer में Use होने वाले और भी कई Device है जो Computer में अहम भूमिका निभाते हैं।   

 कीबोर्ड क्या है और कीबोर्ड के प्रकार - Keyboard in Hindi



उनमें से एक है Keyboard in Hindi  जो Computer में लगने वाला एक Input Device हैं। Computer को कोई Data देने या कुछ Typing करने में Hindi Keyboard का महत्वपूर्ण कार्य है। तो दोस्तों आज मैं Keyboard in Hindi के बारे में हिंदी में कीबोर्ड क्या है (What is Keyboard), Keyboard कितने प्रकार के होते हैं, Keyboard keys,  Keyboard के Symbols,  कीबोर्ड की को कितने वर्गों में बांटा गया है,  और Keyboard से जुड़ी और भी सभी Inforation detail में देने की कोशिश करूंगा।

जो शायद आपको पहले Hindi Keyboard or Keyboard in Hindi के बारे में इतना मालूम ना हो तो यह पोस्ट  Keyboard in Hindi आपके लिए बेहद महत्वपूर्ण होगी। और यह तो आपको आपकी शिक्षा के क्षेत्र में या आपको Online दुनिया में इतनी जानकारी तो होनी ही चाहिए। तो दोस्तों बिना कोई देरी Post को आगे बढ़ाते हैं।





कीबोर्ड क्या है? (Keyboard in Hindi)


Hindi Keyboard or Keyboard in Hindi Computer में Use होने वाला एक Input Device है। जोकि Text के Through Input send करता है। Keyboard CPU को Input के माध्यम से Binary Language में Input Send करता है। Computer BINARY LANGUAGE पर कार्य करता है। सभी टेक्स्ट के BINARY Code होते हैं उसे CPU Text में Change kar देता है। BINARY LANGUAGE  0 से 9 तक होती है।

The FAQ of Keyboard in Hindi


Q. Keyboard को हिंदी में क्या कहते है।
Ans:-  कुंजीपटल।

Q. Keyboard का आविष्कार किसने और कब  किया?  या 


Q.  Typewriter का आविष्कार किसने और कब  किया?

 Ans:- keyboard को  अमेरिका के वैज्ञानिक क्रिस्टोफर लैथम शोलेज ने साल 1868 में बनवाया था। उन्होंने  टाइपराइटर और QWERTY keyboard का आविष्कार किया था।  जो अभी भी सबसे ज्यादा उपयोग में लिया जाता है। हारे इंडिया में सबसे ज्यादा QWERTY keyboard उपयोग में लेते है।


QComputer Keyboard में कुल कितने keys होती हैं ?   

 Ans:-एक सामान्य Keyboard में लगभग 100 Keys (±) होती है ।

कंप्यूटर के साथ कीबोर्ड को  कनेक्ट कैसे करें?


Keyboard को Computer के साथ Connect करना बेहद ही आसान होता है सामान्य Keyboard दो प्रकार के होते हैं (1) USB पोर्टेबल (2) Wireless Keyboard होता है।

Usb वाले Keyboard की Usb को Computer के Usb कंडक्टर में फंसा दिया जाता है and इस तरह ही Wireless के Usb वाले हिस्से को Computer के Usb कनेक्टर मे फंसा दिया जाता है।





कीबोर्ड के प्रकार? (Type of Keyboard)


(1) साधारण कीबोर्ड (Normal Keyboard)


यह कीबोर्ड  केबिल  वाला होता है CPU से कनेक्ट करवाने के लिए Keypad मैं जुड़ी USB केबल को CPU के USB कंडक्टर जोड़ा जाता है ।


(2) तार रहित की-बोर्ड (Wireless Keyboard)


यह Keyboard तार रहित होता है। जिसने कीबोर्ड को cpu से Connect करवाने के लिए कोई भी केबिल का उपयोग नहीं किया जाता कीबोर्ड के साथ एक Wireless Device होता है जिसे CPU में लगाया जाता है और Wireless Keyboard Connect हो जाता है।



Best Hindi Keyboard all Information 2020


संस्करण (Version)के आधार पर की-बोर्ड


(1)  QWERTY

(2)  AZERTY

(3)  DVORAK

(4)  QWERTZ


  QWERTY Keyboard इस समय पर सबसे ज्यादा प्रचलित है इस ही Keyboard का सबसे ज्यादा उपयोग किया जाता है हमारे India में यह Keyboard ही उपयोग में लिया जाता है एवं अन्य Keyboard भी कई देशों में उपयोग में लिया जाता हैै।



उपयोग के आधार पर की-बोर्ड


(1) Simple Keyboard:- 

  मुख्यतः हर जगह Simple Keyboard का ही उपयोग किया जाता है एवं अन्य Keyboard का अपने कार्य और सुविधा के आधार पर किया जाता है।

(2) Laser Keyboard :-

लेजर कीबोर्ड इस युग में कंप्यूटर में New टेक्नोलॉजी हैं। लेजर लाइट का फोकस टेबल या सफेद समतल भाग पर डाली जाती है जोकि लेजर से Keyboard का लेआउट है उसे भाग पर बन जाता है उस लेआउट में बनी कीबोर्ड की सभी की को हमें press करके कीबोर्ड को use कर सकते हैं

(3) Rollup Keyboard  - 

Rollup कीबोर्ड को  Travel के आधार पर बनाया गया है । जिसको हमें हमारी सुविधा के आधार पर Roll करके गोल किया जा सकता है और उसे Roll की तरह बनाकर कहीं भी बैग में Space के आधार पर रख सकते हैं ।


(4) Gaming Keyboard  - 

Gaming Keyboard में सामान्य कीबोर्ड से कुछ अधिक Keys होती है जोकि Volume Key Game खेलते वक्त गेम या म्यूजिक की Volume Up और Down करने के लिए Multimedia की Music को कंट्रोल करने के लिए,  LED Key नाइट में Game खेलते समय नॉर्मल Simple Keyboard में लाइट से नहीं होती तोह अंधेरा रहने की वजह से Keyboard के Button ठीक से नहीं दिखाई देता इसलिए Night में  गेम खेलने के लिए Lights भी दी जाती है


(5) Ergonomic Keyboard

यह Keyboard Typing करते वक्त अंगुलियों में होने वाले दर्द को कम करने के लिए इसका Use किया जाता है ।यह Keyboard इस प्रकार डिजाइन किया जाता है जो कि इस  Keyboard का एंगल V-Shape मे दिखाई देता है और इस Keyboard से Typing भी Fast होती है।


Keyboard key को संरचना के आधार पर  5 भागो में बाँट सकते है


(1) एल्फानुमेरिक कुंजियाँ (Alphanumeric Keys) 


 Keyboard Typing में अल्फान्यूमेरिक Keys ही मुख्य भूमिका निभाती है। इनको एक सेट के माध्यम से Keyboard में स्थित किया जाता है। सबसे ज्यादा उपयोग में आने वाला  QWERTZ KEYBOARD है। किसी भी भाषा की वर्णमाला इन्हीं Keys मे शामिल होती हैै। जो सभी Key अपने पार्टिकुलर अक्षर का रोल प्ले करती है।

(2) न्यूमेरिक की-पैड (Numeric Keypad) :-

 Numeric Keypad  को Calculator keys भी कहते है । जिसमे 0 से 9 तक के number होते हैं। Numeric Key में ( .  /  *  -  + ) भी शामिल हैं।  इनका इस्तेमाल numbers लिखने में किया जाता है।


(3) फंक्शन की (Function Keys):-

 फंक्शन की  Keyboard में सबसे ऊपर होती है। इन्हें Keyboard में F1 से F12 तक लिखा जाता है। Function Keys होती हैं। Function Keys का उपयोग किसी विशेष कार्य को करने के लिए किया जाता है।

(4) Special keys:-

यह की पार्टिकुलर किसी स्पेशल  कमांड देने के लिए काम में लिया जाता है जैसे कि  delete, end, insert, home, page Up, page Down, Enter, return etc. को Special keys की श्रेणी में शामिल किया गया है।


(5) Navigation Keys:-

Navigation keys में  Arrow keys, Home, End, Insert, Page Up, Delete, Page Downआदि keys होती है 


जो Laptop & PC में Open File को ऊपर - नीचे आदि काम में लिया जाता है।







कीबोर्ड short key और उनका विवरण:-

लैपटॉप या Computer के Keyboard in Hindi  में आप  ने कई short key का प्रयोग किया जाता है कई Short Key का आपको ध्यान होगा लेकिन और  भी कई शॉट्स-की होती है जिनका कई लोगों को use पता नहीं होता  नीचे  इस टेबल में short key के use के बारे में विवरण से बताया गया है।



Keys विवरण
Windows PC या Laptop का Start फंक्शन ओपन करने के लिए
Command Apple Mac कंप्यूटर को कमांड देने के लिए होती है।
Menu कीबोर्ड में एक मेनू Key होती है जो की Windows key and Ctrl Key के बीच में होती है।
Esc Esc कुंजी F1 कुंजी के पास होती है।
F1 - F12 PC या Laptop में F1 - F12 शॉर्ट फंक्शन Open करने के लिए
Tab Tab keyटैब कुंजी एक टेक्स्ट बॉक्स में Text डालकर next Text बॉक्स में जाने के लिए मुख़्यत किया जाता है।
Caps lock कैप्स लॉक कुंजी जो की अक्सरों को बड़ा और छोटा करने में काम आता है।
Shift Shift key का कार्य Words टाइप करते समय पहला Words बड़ा टाइप करने के मुख़्यत किया जाता है।
Ctrl Ctrl (Control) key alphabet के साथ मिलकर कई short key का काम करती है। जैसे Ctrl+s से ओपन फाइल save and Ctrl+d से Delete होता है। etc.
Alt Alt key PC and Mac use Only
Arrows arrow key से अप - डाउन और लेफ्ट - राइटमूव होता है।
BackSpace इस का उपयोग Back करने के लिए
Delete Delete key का उपयोग हटाने के लिए किया जाता है।
Enter Enter key का उपयोग typing करते टाइम लाइन space देने और Next के लिए etc.
Page up Page up key - पेज को ऊपर ले जाने के लिए
Page Down Page Down key पेज को निचे ले जाने के लिए
Num Lock Num Lock key - all numbers Key को लॉक करने के लिए




Keyboard in Hindi  में प्रतीकों (Symbols )और हिंदी कीबोर्ड में  प्रतीकों  के codes:-

Hindi Keyboard में उपयोगकर्ताओं को Hindi कंटेंट में Symbols के कोड का मालूम नहीं होने से उनको कई परेशानियों का सामना करना पड़ जाता है इसीलिए मैंने नीचे Hindi Content में Use होने वाले सभी Symbols के Code दीया हूं मुझे उम्मीद है अब आपको हिंदी कंटेंट में Use होने वाले सिंबल्स कि कोई परेशानी नहीं होगी तो आगे बढ़ते हैं और सभी Symbols और  उसके कोड बारे में बताते हैं।

प्रतीकों (Symbols) प्रतीकों के नाम और हिंदी कीबोर्ड में प्रतीकों के codes
 ~   टिल्ड का प्रतीक   (Alt+152)                           
  `    एक धक्का का प्रतीक   (Alt+146)
  !     विस्मयादिबोधक चिह्न  का प्रतीक   (Alt+33)
 @     @ का प्रतीक   (Alt+064)
  #   हैश का प्रतीक   (Alt+035)
  £   पाउंड का प्रतीक   (Alt+051)
  €   यूरो का प्रतीक   (Alt+051)
  $   डॉलर का प्रतीक   (Alt+036)
  ¢   Cent का प्रतीक   (Alt+051)
  ¥   चीनी / जापानी युआन का प्रतीक   (Alt+051)
  §   माइक्रो का प्रतीक   (Alt+154)
  %   प्रतिशत का प्रतीक   (Alt+037)
  °   डिग्री का प्रतीक   
  ^   कैरट का प्रतीक   
  &   तथा / और का प्रतीक   (Alt+038)
  *   स्टार  का प्रतीक   (Alt+042)
  (   कोष्ठक खोलें का प्रतीक   (Alt+040)
  )   कोष्ठक बंद करें का प्रतीक   (Alt+041)
  –   हाइफ़न या डैश का प्रतीक   (Alt+150)
  _   अंडरस्कोर का प्रतीक   (Alt+151)
  +   प्लस का प्रतीक   (Alt+043)
  =   बराबर/समान/समकक्ष  का प्रतीक   (Alt+061)
  {   कर्ली ब्रैकेट खोलें का प्रतीक  
  }   कर्ली ब्रैकेट बंद का प्रतीक   
  [   Open bracket का प्रतीक   
  ]   बंद कोष्ठक का प्रतीक   
  |   पाइप या ऊर्ध्वाधर पट्टी का प्रतीक   
  \   बैकस्लैश का प्रतीक  
  /   गणितीय विभाजन का प्रतीक का प्रतीक  
  :   कोलोन का प्रतीक   (Alt+058)
  ;   सेमीकोलन का प्रतीक   (Alt+059)
  “    उद्धरण चिह्न  का प्रतीक   (Alt+034)
  ‘   एकल उद्धरण चिह्न  का प्रतीक   (Alt+145)
  <   कम या कोण कोष्ठक का प्रतीक   (Alt+060)
  >   अधिक या कोण कोष्ठक का प्रतीक   (Alt+062)
   ,   अल्पविराम का प्रतीक   (Alt+044)
   .   पूर्ण विराम का प्रतीक   (Alt+046)
  ?   प्रश्न चिन्ह का प्रतीक   (Alt+063)

Ctrl+ Alphanumeric Keys का short -Key


 Keyboard in Hindi  में Ctrl+ Alphanumeric Keys का short -Key में  कमांड देकर उपयोग में लिया जाता है। नीचे  इस टेबल में Ctrl+Alphanumeric Keys के use के बारे में विवरण से बताया गया है। जो आपको बहुत help करेगी।


Ctrl+Alphanumeric Keys विवरण
Ctrl+A Ctrl+A Press करने पर पेज के सभी कंटेंट को एक बार में सेलेक्ट करता है।
Ctrl+B  Ctrl+B Press करने पर सेलेक्ट किये हुए text को bold करता है।
Ctrl+C Ctrl+C Press करने पर सेलेक्ट किये हुए text को copy करता है।
Ctrl+D  Ctrl+D Press करने पर खुले हुए वेबपेज को bookmark करता है।
Ctrl+E Ctrl+E Press करने पर सेलेक्ट किये हुए Text को center में ले जाता है।
Ctrl+F Ctrl+F Press करने पर Find विंडो खोलने के लिए प्रयोग करते हैं।
Ctrl+G Ctrl+G Press करने पर ब्राउज़र और वर्ड प्रोसेसर में Find विंडो ओपन करता है।
Ctrl+H Ctrl+H Press करने पर माइक्रोसॉफ्ट वर्ड, नोटपैड और वर्डपैड में Find & Replace का विंडो ओपन करता है।
Ctrl+I Ctrl+I Press करने पर लिखे हुए text को italic करता है।
Ctrl+J Ctrl+J Press करने पर ब्राउज़र में हो रहे डाउनलोड विंडो में जाने के लिए प्रयोग करते हैं और माइक्रोसॉफ्ट वर्ड में Justify alignment set करता है।
Ctrl+K Ctrl+K Press करने पर माइक्रोसॉफ्ट वर्ड और HTML editor में highlighted text का Hyperlink बनाता है।
Ctrl+L Ctrl+L Press करने पर Text को left side में to align करता है और browser का address bar select करता है।
Ctrl+M Ctrl+M Press करने पर वर्ड प्रोसेसर प्रोग्राम में सेलेक्टेड text को indent करता है।
Ctrl+N Ctrl+N Press करने पर नया पेज या नया डॉक्यूमेंट बनाता है।
Ctrl+O Ctrl+O Press करने पर लगभग हर तरह प्रोग्राम में File या document को ओपन करता है।
Ctrl+P Ctrl+P Press करने पर डॉक्यूमेंट को प्रिंट करने के लिए Print विंडो ओपन करता है।
Ctrl+R Ctrl+R Press करने पर Text को right side align करता है. ब्राउज़र के पेज को reload करता है।
Ctrl+S  Ctrl+S Press करने पर file या document को लोकल ड्राइव में परमानेंटली save करता है।
Ctrl+T Ctrl+T Press करने पर इंटरनेट ब्राउज़र में नया tab खोलता है।
Ctrl+U  Ctrl+U Press करने पर Text को underline करता है।
Ctrl+V Ctrl+V Press करने पर Copy किये हुए file, text document को paste करता है।
Ctrl+W Ctrl+W Press करने पर ब्राउज़र में tab और वर्ड में document को करता है।
Ctrl+X  Ctrl+X Press करने पर सेलेक्ट किये हुए text या किसी फाइल cut करता है।
Ctrl+Y  Ctrl+Y Press करने पर किसी भी action को Redo करता है।
Ctrl+Z Ctrl+Z Press करने पर किसी action को Undo करता है।



Final Words:- दोस्तों मैंने इस Post में Keyboard in Hindi,  Keyboard क्या है,  Hindi Keyboard or Hindi Font Keyboard इसके बारे में डिटेल में पूरी जानकारी देने की कोशिश की है। सभी क्वेश्चन और short-key के बारे में भी डिटेल में साधारण और सुंदर तरीके से इस पोस्ट में बताया गया है दोस्तों आपको इस पोस्ट से कई Shorts Key एंड और भी कई जानकारी के बारे में जरूर सीखने को मिला होगा यदि आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो कृपया आप Keyboard in Hindi इसे अपने Friends और सभी रिश्तेदारों के पास भी अपने सोशल मीडिया Facebook,Whatsapp, Twitter, Instagram आदि पर शेयर करके अपनी प्रशंसा को दर्शाने की कोशिश करें यदि आप शेर करेंगे तो मुझे बहुत है खुशी मिलेगी और आपके कई फ्रेंड्स को इस पोस्ट से Hindi Keyboard के बारे में Hindi में डिटेल में जानकारी मिल सकेगी। So Please शेयर जरूर करें।  धन्यवाद !


Keyboard kitne prakar ke hote hai


Keyboard kitne prakar ke hote hai?: - कीबोर्ड जो कंप्यूटर में एक महत्वपूर्ण इनपुट डिवाईस है। जो CPU को  इनपुट देने का काम करता है। तो आज हम विस्तार में कंप्यूटर कीबोर्ड कितने प्रकार का होता है ये विस्तार में जानेंगे।  




कीबोर्ड के प्रकार? (Type of Keyboard)


(1) साधारण कीबोर्ड (Normal Keyboard)


यह कीबोर्ड  केबिल  वाला होता है CPU से कनेक्ट करवाने के लिए Keypad मैं जुड़ी USB केबल को CPU के USB कंडक्टर जोड़ा जाता है ।


(2) तार रहित की-बोर्ड (Wireless Keyboard)


यह Keyboard तार रहित होता है। जिसने कीबोर्ड को cpu से Connect करवाने के लिए कोई भी केबिल का उपयोग नहीं किया जाता कीबोर्ड के साथ एक Wireless Device होता है जिसे CPU में लगाया जाता है और Wireless Keyboard Connect हो जाता है।





संस्करण (Version)के आधार पर की-बोर्ड


(1)  QWERTY
(2)  AZERTY
(3)  DVORAK
(4)  QWERTZ



उपयोग के आधार पर की-बोर्ड


(1) Simple Keyboard:- 

  मुख्यतः हर जगह Simple Keyboard का ही उपयोग किया जाता है एवं अन्य Keyboard का अपने कार्य और सुविधा के आधार पर किया जाता है।

(2) Laser Keyboard :-

लेजर कीबोर्ड इस युग में कंप्यूटर में New टेक्नोलॉजी हैं। लेजर लाइट का फोकस टेबल या सफेद समतल भाग पर डाली जाती है जोकि लेजर से Keyboard का लेआउट है उसे भाग पर बन जाता है उस लेआउट में बनी कीबोर्ड की सभी की को हमें press करके कीबोर्ड को use कर सकते हैं।

(3) Rollup Keyboard  - 

Rollup कीबोर्ड को  Travel के आधार पर बनाया गया है । जिसको हमें हमारी सुविधा के आधार पर Roll करके गोल किया जा सकता है और उसे Roll की तरह बनाकर कहीं भी बैग में Space के आधार पर रख सकते हैं ।


(4) Gaming Keyboard  - 

Gaming Keyboard में सामान्य कीबोर्ड से कुछ अधिक Keys होती है जोकि Volume Key Game खेलते वक्त गेम या म्यूजिक की Volume Up और Down करने के लिए Multimedia की Music को कंट्रोल करने के लिए,  LED Key नाइट में Game खेलते समय नॉर्मल Simple Keyboard में लाइट से नहीं होती तोह अंधेरा रहने की वजह से Keyboard के Button ठीक से नहीं दिखाई देता इसलिए Night में  गेम खेलने के लिए Lights भी दी जाती है


(5) Ergonomic Keyboard

यह Keyboard Typing करते वक्त अंगुलियों में होने वाले दर्द को कम करने के लिए इसका Use किया जाता है ।यह Keyboard इस प्रकार डिजाइन किया जाता है जो कि इस  Keyboard का एंगल V-Shape मे दिखाई देता है और इस Keyboard से Typing भी Fast होती है।



आपको पोस्ट अच्छी लगे तो ऐसे अपने दोस्तों  के साथ शेयर करे।  धन्यवाद